किताबें इंटरनेट के मुकाबले जानकारी का एक बेहतर जरिया क्यों हैं?

Why the books are a better source of knowledge than the internet?

किताबें बनाम इंटरनेट ! बात किताबों की हो या फिर इंटरनेट की, दोनों की ही जरूरत को नकारा नहीं जा सकता| लेकिन सवाल ये उठता है कि आखिर बेहतर क्या है? क्यों कुछ लोग अभी भी किताबों को जानकारी का एक बेहतर जरिया मानते हैं?

आज मैं आपसे साझा करूंगा की आखिर क्यों किताबें इंटरनेट के मुकाबले जानकारी का एक बेहतर विकल्प है|

इसमें कोई दो राय नहीं कि इंटरनेट तेज आसान और हमेशा मौजूद है, लेकिन इस बात से भी मुकरा नहीं जा सकता की किताबों से मिली जानकारी थोड़ी धीमी होने के बावजूद भी यह ज्यादा वक्त तक हमारे दिमाग में रहती है| अगर बात आती है की जानकारी के मामले में कौन सा जरिया ज्यादा भरोसेमंद है, तो हम आंखें बंद करके किताबों का नाम ले सकते हैं| भले ही इंटरनेट पर जानकारी का भंडार हो, लेकिन इसको भी हमें ध्यान में रखना होगा कि इंटरनेट पर मौजूद जानकारी इतनी ज्यादा भरोसेमंद सही और गहरी नहीं होती|

आजकल इंटरनेट तक पहुंचना और उस पर कुछ साझा करना इतना ही आसान हो गया है, जितना कि सांस लेना, यही वजह है कि इंटरनेट पर मौजूद जानकारी की विश्वसनीयता का कोई आधार नहीं है| किताब पढ़ने की बहुत से फायदे में से कुछ बड़े फायदे यह भी है, कि यह हमारे दिमाग को काम पर लगाती हैं, किताबें पढ़ने से दिमाग की एक्सरसाइज होती है, दिमाग ज्यादा फोकस महसूस करता है और बेहतर काम करता है|

चलिए कुछ और बड़ी वजह हो पर ध्यान देते हैं कि आखिर क्यों किताबे इंटरनेट के मुकाबले जानकारी का एक बेहतर जरिया है:

1. बेहतर जानकारी

जैसा कि मैं Blog के शुरू में ही कह चुका हूं कि किताबों से मिली जानकारी ज्यादा भरोसेमंद और गहन होती है| जब कोई लेखक एक किताब लिखता है तो वह अपनी जिंदगी का अनुभव ही साझा नहीं करता, बल्कि वह अपनी जिंदगी का एक बेहतर पहलू लोगों को पढ़ने के लिए देता है| जाहिर है ऐसी जानकारी इंटरनेट पर मौजूद उस जानकारी से बेहतर होगी, जिसकी विश्वसनीयता का कोई आधार नहीं है|

2. कम लेकिन सटीक

जाहिर है, किताब के मुकाबले इंटरनेट पर किसी सवाल के सैकड़ों जवाब मिल सकते हैं| लेकिन किताबों से मिलने वाले जवाब ज्यादा बेहतर और सटीक होते हैं| यह भी एक वजह है कि किताबें इंटरनेट के मुकाबले जानकारी का एक बेहतर जरिया है|

3. जिंदगी का अनुभव

एक लेखक अपने सिद्धांतों, अपनी बातों के साथ-साथ अपनी जिंदगी की परछाई एक किताब में साझा करता है, जो लोगों को मोटिवेट और इंस्पायर करती है| एक किताब को पढ़ने वाला उससे और लेखक की जिंदगी से इमोशनली जुड़ सकता है, और इंसान होने के नाते, यह सभी चीजें किसी भी इंसान को कुछ नया सीखने में बेहद मदद करती हैं|

4. किताबें शांत महसूस कराती हैं

वैज्ञानिक रूप से भी यह साबित हो चुका है, कि किताब पढ़ना किसी ऐसे इंसान के लिए बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है जो घबराहट डर या मायूसी का शिकार है| किताबें इंसान को उससे खुद की पहचान कराने में मदद करती हैं|

5. किताबें पॉजिटिविटी फैलाती हैं

किताबें ऐसी जानकारी साझा करती है, जिससे पढ़ने वाले का नजरिया बदलता है| वह बेहतर ढंग से दुनिया को देख पाता है| यह उसकी परेशानियों का हल देकर उसके दिमाग क दवाओं को कम करती है| आमतौर पर किताबों में झूठी बातें या जानकारी नहीं होती| किताबें पब्लिश होने से पहले अच्छी तरह जांची जाती, लेकिन इंटरनेट पर अवेलेबल जानकारी हमेशा एक वेबसाइट से दूसरी वेबसाइट तक भटकाने का काम करती है|

अगर आप भी इस ब्लॉग में दी गई बातों से इत्तेफाक रखते हैं, और अपने आप को बेहतर बनाने की दिशा में एक नई शुरुआत करना चाहते हैं, तो आप यह शुरुआत किताबें पढ़कर कर सकते हैं|

संसार में इतनी सारी अच्छी किताबें उपलब्ध हैं, सवाल ये उठ सकता है कि इन सारी किताबों में से कौन सी किताब है शुरुआत करने के लिए चुनी जाए|

नीचे दी गई 10 किताबों की सूची आपको यह निर्णय लेने में मदद करेगी:

जीवन में यह 10 किताबें जरूर पढ़ें

आशा करते हैं आप को हमारा यह ब्लॉग पसंद आया होगा| इस बारे में अपनी कोई भी राय, सुझाव या फिर कोई भी सवाल नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर पूछ सकते हैं|

धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *