मानसिक रूप से स्वस्थ रहने के आसान तरीके (Mental Health Tips in Hindi)

Mental Health Tips in Hindi

जीवन के मकसद को पूरा करने के लिए जिन चीजों की आवश्यकता पड़ेगी, वह हर चीज जीवन में बेहद जरूरी है, और जीवन का मकसद है अपनी जिम्मेदारियों को भली-भांति संभाल कर जीवन का पूर्ण रूप से आनंद लेना और खुश रहना|

Quotes by Sadhguru

आप अपने जीवन के मकसद को भले जैसे देखें, लेकिन सद्गुरु के यह बोल आप उस मकसद के अनुरूप ही पाएंगे| जीवन के उस मकसद को पूरा करने के लिए आपको जिस व्यक्ति की सबसे ज्यादा जरूरत पड़ेगी वह है आप खुद|

अगर आप भी जीवन में कुछ हासिल करना चाहते हैं, तो आपको अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखना ही होगा|

Mental Health Tips in Hindi

Healthy Body + Healthy Mind = Joyful Life

अगर स्वस्थ रहने की बात आती है, तो हम शारीरिक रूप से स्वस्थ रहने और उससे जुड़े क्रियाकलापों के बारे में ही सोच पाते हैं, और मानसिक स्वास्थ्य को पूरी तरह से नजरअंदाज कर देते हैं| जबकि एक स्वस्थ शरीर का होना जितना जरूरी है, खुशहाल जीवन के लिए स्वस्थ मस्तिष्क का होना भी उतना ही जरूरी है|

हमारा स्वास्थ्य हमारे व्यक्तिगत विकास के लिए जितना जरूरी है उतना ही जरूरी देश के हर नागरिक का स्वास्थ्य देश की उन्नति के लिए जरूरी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) स्वास्थ्य को “शारीरिक, मानसिक, सामाजिक और आध्यात्मिक कल्याण और केवल बीमारी या दुर्बलता की अनुपस्थिति की स्थिति” के रूप में परिभाषित करता है। लेकिन यकीन मानिए शारीरिक स्वास्थ्य की अहमियत भी इससे कहीं ज्यादा है ।

(शारीरिक स्वास्थ्य की है अहमियत और उससे जुड़े तरीकों के बारे में जानकारी पाने के लिए आप हमारा ब्लॉग स्वस्थ रहने के 10 आसान तरीके पढ़ सकते है|)

Mental Health Tips in Hindi

मानसिक स्वास्थ्य क्या है? (What is Mental Health)

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार संपूर्ण रूप से सक्षम मस्तिष्क का होना मानसिक रूप से स्वस्थ होने की स्थिति है। संपूर्ण रूप से सक्षम होने का मतलब है, कि व्यक्ति अपनी क्षमताओं का एहसास कर सकता है, जीवन के सामान्य तनावों का सामना कर सकता है, प्रोडक्टिव होकर काम कर सकता है, और अपने या अपने समुदाय के लिए योगदान कर सकता है।

मानसिक स्वास्थ्य का हमारे व्यावहारिक जीवन पर प्रभाव (Effect of mental health on our practical life.)

मानसिक स्वास्थ्य का हमारे व्यवहारिक जीवन और क्षमताओं पर एक बड़ा प्रभाव पड़ता है। नीचे कुछ हमारे व्यक्तिगत जीवन से जुड़े ऐसे सामान्य बिंदु दिए गए हैं जो हमारे मानसिक स्वास्थ्य की वजह से प्रत्यक्ष रूप से प्रभावित होते हैं :

  • शैक्षिक परिणाम (Educational Results)
  • उत्पादकता (Productivity)
  • व्यक्तिगत संबंधों का सकारात्मक विकास (Positive Growth in Personal Relationships)
  • अपराध दर (Crime Rate)
  • शराब और नशीली दवाओं के दुरुपयोग (Inappropriate Use of Liqueur & Drugs)

Mental Health Tips in Hindi

मानसिक स्वास्थ्य क्यों महत्वपूर्ण है? (Importance of Mental Health)

मानसिक रोगों से प्रभावित मरीजों की संख्या दिनोंदिन बढ़ रही है, और इसी के साथ आत्महत्या करने वाले लोगों के आंकड़े भी इससे प्रत्यक्ष तौर पर जुड़े है। WHO की एक रिपोर्ट के अनुसार हर साल लगभग 800000 लोग आत्महत्या करते हैं, इसका मतलब है कि विश्व भर में हर 40वें सेकेंड पर कोई ना कोई व्यक्ति आत्महत्या करता है।

WHO के द्वारा की गई एक और भविष्यवाणी के अनुसार मानसिक रोग 2020 तक दुनिया को इस तरह चपेट में ले लेंगे, कि मानसिक रोगों की समस्या दुनिया भर में दूसरी सबसे बड़ी स्वास्थ्य संबंधी समस्या होगी। दुनिया भर आज लगभग 45 करोड़ लोग मानसिक विकारों से पीड़ित हैं, और अगर देखा जाए तो WHO के द्वारा की गई भविष्यवाणी सिद्ध साबित होती दिखाई पड़ रही है। इससे ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि मानव विकास की राह में इस प्रकार के रोग कितना बड़ा रोड़ा है, और इस बात को भी समझा जा सकता है कि मानसिक स्वास्थ्य का क्या महत्व है।

यह बात थी मानसिक स्वास्थ्य से जुड़ी सामाजिक महत्व और सामाजिक समस्याओं की। बात करते हैं कि मानसिक स्वास्थ्य हमारे व्यक्तिगत जीवन से कैसे जुड़ा है। हमारा मानसिक स्वास्थ्य सीधे तौर पर हमारे शारीरिक स्वास्थ्य से जुड़ा है, ठीक उसी तरह से यह दोनों ही हमारे खुशहाल जीवन से जुड़े हो हैं। अगर हम मानसिक रूप से अस्वस्थ हैं तो इसका सीधा असर हमारे स्वास्थ्य पर पड़ेगा ठीक इसी प्रकार इसका उल्टा भी। और जब हम शारीरिक और मानसिक दोनों ही रूपों से परेशानी का सामना करेंगे तो इसका असर हमारे व्यक्तिगत जीवन पर भी रहेगा।

Mental Health Tips in Hindi

मानसिक रूप से स्वस्थ कैसे रहें? (how to be mentally fit?)

स्वस्थ मस्तिष्क और मानसिक स्वास्थ्य के महत्व के बारे में जानकारी प्राप्त करने के बाद हमारे मन में पहला सवाल यह उठता है, कि आखिर मानसिक रूप से स्वस्थ कैसे रहा जाए?

अगर आप भी मानसिक रूप से स्वस्थ रहना चाहते हैं, अपने जीवन को ज्यादा खुशहाल और अपनी काबिलियत को बढ़ाकर अपने जीवन को एक नई दिशा देना चाहते हैं, तो नीचे दिए गए बिंदुओं को ध्यान से पढ़ें जो आपको मानसिक रूप से स्वस्थ रहने में बेहद मदद करने वाले हैं:

  • Exercises for Mental Health
  • Food suitable for Mental Health
  • Thoughts & Emotions

जिस तरह से शारीरिक स्वास्थ्य के लिए आपको नियमित रूप से व्यायाम करना पड़ेगा, अच्छा खाना पड़ेगा, गलत डाइट से दूर रहना पड़ेगा, और अच्छा रेस्ट भी लेना पड़ेगा, ठीक उसी तरह मानसिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए भी आपको कुछ ऐसे काम करने पड़ेंगे जो मस्तिष्क के स्वास्थ्य के लिए बेहद जरूरी है, जिसके बारे में विस्तृत व संपूर्ण जानकारी नीचे मौजूद है:

Mental Health Tips in Hindi

Exercises for Mental Health

शारीरिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए आपको निश्चित तौर पर नियमित रूप से व्यायाम करना पड़ता होगा, ठीक उसी तरह अगर मानसिक रूप से भी आप को स्वस्थ रहना है तो आपको जरूर कुछ विशेष प्रकार की कसरतें हैं और व्यायाम करने होगें जिससे कि आपका मस्तिष्क स्वस्थ रहें और उसका विकास हो जैसे कि;

1) Train Your Brain

ब्रेन ट्रेनिंग एक ट्रेंड बन रहा है। आपके मस्तिष्क को बेहतर और तेज़ काम करने के लिए प्रशिक्षित करने के कार्यक्रमों के साथ औपचारिक पाठ्यक्रम, वेबसाइट और किताबें हैं। इन कार्यक्रमों के पीछे कुछ Researches हैं, लेकिन मूल सिद्धांत Memory, Vision और Logic ही हैं। हर दिन इन तीन अवधारणाओं पर काम करें और आपका मस्तिष्क किसी भी चीज के लिए तैयार हो जाएगा।

2) Learn New Skill

नई Skills सीखना दिमागी क्षमताओं को कई गुना बढ़ा देता है। आपका आपकी Memory ज्यादा से ज्यादा काम में आती है, आप अपने दिमाग को इस्तेमाल करने के नए तरीके जान पाते हैं, और आप चीजों को दूसरी तरह से समझते हैं। आप कोई भी एक ऐसी नई Skill सीखना शुरू कर सकते हैं जो आपने पहले कभी ना की हो, जैसे आप पढ़ना शुरू कर सकते हैं, Cooking करना शुरू कर सकते हैं, पेंटिंग करना शुरू कर सकते हैं, गाना गाना सीखना शुरू कर सकते हैं। कुछ भी जो आपने पहले ना किया हो।

3) Physical Exercise

स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क निवास करता है, यह हम बेहद अच्छे से जानते हैं। अगर आप नियमित रूप से शारीरिक व्यायाम करेंगे, तो इससे आपके मस्तिष्क पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। आपके मस्तिष्क में जरूरी खून और ऑक्सीजन का संचार होगा, जिससे वह बेहतर ढंग से काम कर पाएगा।

4) Play Brain Games

ऐसे गेम्स जो Mental Health के लिए फायदेमंद साबित होते हैं, हमेशा से ही मौजूद है। इन गेम्स में शतरंज, सुडोकू, Word Puzzle या फिर सैकड़ों तरह क कई और भी गेम्स शुमार हैं। आप इनकी मदद से अपने मस्तिष्क की कोशिकाओं की कसरत कर सकते हैं, जिससे आपकी याददाश्त और तार्किक काबिलियत बेहतर होती है।

5) Meditation

Meditation यानी कि ध्यान लगाना, आपके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य और शांति के लिए सबसे कारगर माध्यम है, और एक जांचा परखा गया तरीका भी। यह गर्व का विषय है कि मेडिटेशन यानी कि ध्यान लगाना विश्व भर को भारत की ही देन है। योगाभ्यास के फायदे आज पूरा विश्व मानता है। तो अगर आपको मानसिक रूप से स्वस्थ रहना है, तो योगाभ्यास और ध्यान लगाने से ज्यादा बेहतर कोई और चीज हो ही नहीं सकती।

Mental Health Tips in Hindi

Food Suitable For Your Mental Health

Food For Mental Health

मानसिक स्वास्थ्य से जुड़े व्यायाम और कसरत के बारे में जानकारी प्राप्त करने के बाद बात आती है उस भोजन और खाद्य पदार्थों की जो हमारे मानसिक स्वास्थ्य के लिए लाभकारी हैं, जो निम्न प्रकार है;

1) Leafy Vegetables

Leafy Vegetables यानी कि हरी सब्जियां हमारे मानसिक स्वास्थ्य के साथ-साथ शारीरिक स्वास्थ्य के लिए भी बेहद उपयोगी होती हैं। वैज्ञानिकों के द्वारा किए गए शोध के अनुसार हरी सब्जियों में ल्यूटिन, विटामिन K, नाइट्रेट, फोलेट, अल्फा-टोकोफ़ेरॉल, बीटा-कैरोटीन, और केम्पिफेरोल अधिक मात्रा में पाया जाता है, जो कि हमारे मानसिक स्वास्थ्य के लिए अच्छा होने के साथ-साथ हमारे संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए भी बेहद कारगर है।

2) OATS

चूंकि ग्लूकोज मस्तिष्क के लिए ऊर्जा का प्राथमिक स्रोत है, इसलिए ओट्स मानसिक स्वास्थ्य विकास के लिए एक बेहतरीन भोजन है। जई कार्बोहाइड्रेट से भरपूर होते हैं और शरीर से टूटने में काफी लंबा समय लेते हैं, इस प्रकार कई घंटों तक ग्लूकोज की प्रचुर मात्रा में आपूर्ति होती है। मानसिक रूप से फिट रहने के लिए व्यक्ति को डाइट चार्ट में अधिक ओट्स शामिल करना चाहिए।

3) WALNUTS

अखरोट अगला अद्भुत भोजन है जो आपके दिमाग को तेज और होशियार बनाने में मदद कर सकता है, क्योंकि अखरोट में कुछ विशेष प्रकार की एंटी ऑक्सीडेंट और ओमेगा 3 फैटी एसिड होते हैं, जो मस्तिष्क की शक्ति को बढ़ाने के लिए बेहद कारगर हैं। हमारी सलाह है कि आप प्रतिदिन नाश्ते के समय कुछ मात्रा में अखरोट खाएं।

4) FLAX SEED

शारीरिक स्वास्थ्य पाने के लिए कई प्रकार के खाद्य विकल्प हो सकते हैं, लेकिन कुछ अद्भुत भोजन ऐसे भी हैं, जो मानसिक स्वास्थ्य के लिए बेहद उपयुक्त है, जैसे कि फ्लैक्स सीड (Flax Seeds) यानि सन के बीज, जो आपको बेहतर मानसिक स्वास्थ्य प्राप्त करने में मदद कर सकते हैं। Flax Seeds में अल्फा लिनोलेनिक एसिड प्रचुर मात्रा में होता है, जो संवेदी जानकारी यानि इमोशनल इंफॉर्मेशन को संजोने के लिए बेहद जरूरी है। अपने मस्तिष्क की शक्ति को बढ़ाने के लिए आप अपनी डाइट में सन के बीज जरूर शामिल करें।

5) EGGS

जहाॅं अंडे में पाए जाने वाले प्रोटीन शारीरिक स्वास्थ्य और कोशिकाओं के पुनर्निर्माण के लिए बेहद जरूरी स्रोत है, ठीक उसी तरह अंडों से ही मिलने वाला कोलाइन पदार्थ मस्तिष्क की याद रखने की क्षमता को बढ़ाने में बेहद मददगार साबित होता है।

Mental Health Tips in Hindi

Thoughts & Emotions

Thoughts and Emotions

हमारा मस्तिष्क किसी उपजाऊ भूमि की तरह है। हम इस उपजाऊ भूमि में जिस प्रकार भावनाओं तथा विचारों के रूप के बीज बोते हैं, हम उसी प्रकार का फल भी पाते हैं। यदि हम लगातार उसमें नकारात्मक सोच के बीज डालते रहेंगे बोते रहेंगे तो उससे मिलने वाला फल भी नकारात्मक ही होगा और इसका हमारे व्यक्तिगत और सामाजिक जीवन पर असर पड़ेगा इसके उलट अगर हम अपने दिमाग में अच्छे विचार और सकारात्मक सोच को विकसित करते हैं तो इसका सकारात्मक प्रभाव हमारे व्यक्तिगत और सामाजिक जीवन पर अवश्य ही देखने को मिलेगा।

अतः हमारी सलाह है कि आप जानने की कोशिश करें की भावनाएं और विचार हमारे मस्तिष्क पर कैसा प्रभाव डालते हैं| हमें किस तरह के विचारों को अपने मस्तिष्क में प्रवेश करने देना चाहिए, और किन विचारों से उसे दूर रखना चाहिए| इसके बारे में विस्तृत अध्ययन के लिए आप नीचे दिए गए बिंदुओं पर ध्यान दे सकते हैं;

1) Love Yourself

आत्म संतुष्टि और मनोवैज्ञानिक रूप से खुश रहने के लिए सबसे पहली चीज जो आपको करनी होगी वह है खुद से प्यार। ऐसा करना आपको आत्मविश्वास देता है और खुद के बारे में समझने की का एक रास्ता भी|

2) Try to Dispel the Negativity

व्यवहारिक जीवन में हमें नकारात्मक और सकारात्मक दोनों ही परिस्थितियों का सामना करना पड़ता है जितना हो सके उतनी जल्दी नकारात्मक चीजों को पीछे छोड़ कर उन्हें भुला देने की कोशिश करें, और अपने आपको सिर्फ सकारात्मक चीजों से ही घेरें|

3) Try to Find Something to be Grateful For

प्रार्थना करना, लोगों से अच्छे से पेश आना और उनका आभार व्यक्त करना, इस सबसे हमारे व्यवहारिक जीवन भर तो सकारात्मक प्रभाव पड़ता है ही, साथ ही साथ व्यक्तिगत जीवन में भी सकारात्मक बदलाव आते हैं, जैसे कि आपके आसपास का माहौल आपके अनुकूल हो जाता है, लोगों के बीच आपकी छवि बेहतर होती है और आप खुद भी शांत महसूस करते हैं|

इसके अलावा आपको हमेशा उन चीजों का खुद भी आभार व्यक्त करते रहना चाहिए जो आपके पास है, उसमें सकारात्मक पहलू ढूंढिए और खुश रहिए|

4) Laugh & Remember the Laugh

खुश रहना और हंसना खुशहाल और स्वस्थ जीवन के आधार हैं फिर चाहे बात शारीरिक स्वास्थ्य की हो या मानसिक स्वास्थ्य की हंसना और उस हंसी को याद रखना हमारा हमारे मनोवैज्ञानिक स्वास्थ्य पर बेहद सकारात्मक प्रभाव डालता है तो हंसते रहिए और उस हंसी को याद रखिए|

5) Volunteer

जब कभी मौका मिले ऐसे लोगों की मदद करने से कभी ना चुके जिसे जिन्हें उसकी जरूरत है| इससे आप खुद भी अपने बारे में अच्छा महसूस करेंगे| लोगों की मदद करने की आदत अपने व्यवहार में उत्पन्न कीजिए| आप लोगों की मदद स्कूल, नॉन प्रॉफिट मेकिंग ऑर्गेनाइजेशन, अनाथ आश्रम या फिर किसी ऐसी ही और जगह जाकर कर सकते हैं|

6) Remember Work is not Everything

याद रखिए कि आपका काम आपकी जिंदगी का एक हिस्सा है, और हमेशा यह जानने की कोशिश कीजिए कि यह हिस्सा आपकी जिंदगी में कितना अहम है| कभी-कभी आपको ऐसी स्थिति का भी सामना करना पड़ता है, जब आप उस काम से ही ऊब जाते हैं जिस काम को करना बेहद पसंद करते हैं| इसके लिए आपको उससे थोड़ा ब्रेक लेना होगा अपने परिवार को वक्त देना होगा, बाहर जाना होगा दोस्तों को वक्त देना होगा| धीरे धीरे चीजें बेहतर हो जाएंगी और इस सभी का आपकी मनोवैज्ञानिक स्थिति पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा|

7) Look After Your Basic Needs

खाना, सोना, नियमित रूप से व्यायाम करना, यह सभी हमारे व्यक्तिगत और व्यवहारिक जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा है, और जितनी अहमियत इनकी हमारे व्यक्तिगत जीवन में है उतना हमें इन सारी बातों का ख्याल रखना ही चाहिए|

8) Money is not Everything

पैसा हमारे जीवन में अहमियत रखता है, लेकिन हमारी आधारभूत जरूरतों को पूरा करने के लिए जितना जरूरी है, उतनी ही| पैसा जरूरी है, जिंदगी का हिस्सा है, लेकिन जिंदगी नहीं है, और ना ही परेशान होने की वजह| तो हमेशा ध्यान रहे कि पैसा कितना जरूरी है और उसे कितनी अहमियत दी जाए|

9) Get Engage in Meaningful & Creative Activities

अपना थोड़ा वक्त ऐसी चीजों में दे जो रचनात्मक हो और आपकी क्रिएटिविटी को चैलेंज करें, भले ही उनसे आपको पैसा मिले या ना मिले|जैसे कि Cooking, Gardening, Drawing or learning Music Etc.

10) Set Realistic Goals

अपनी काबिलियत और अनुभव को ध्यान में रखते हुए, जब भी आप अपने लक्ष्य को निश्चित करें तो ध्यान रहे कि वह दिए गए वक्त में पूरे हो जाएं| पूरे होते लक्ष्य दिमाग पर सकारात्मक प्रभाव डालते हैं|

यह सारी टिप आपको मनोवैज्ञानिक रूप से स्वस्थ रखने के साथ-साथ ही एक सकारात्मक नजरिया विकसित करने में भी मदद करेंगे। अगर आप सकारात्मक लोगों की पहचान करना चाहते हैं, या फिर यह जानना चाहते हैं कि सकारात्मक लोगों का साथ जरूरी क्यों है, तो नीचे दिए गए दोनों ब्लॉग्स को जरूर पढ़ें।

आशा करते हैं आपको हमारा यह ब्लॉग पसंद आया होगा इस ब्लॉग के बारे में अपनी राय या फिर इसमे सुधार के लिए कोई भी सुझाव या सलाह आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर बोल सकते हैं|

धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *