एक नई शुरुआत! New Beginning!

क्यों?

दुनिया में लगभग हर व्यक्ति जीवन में सुख, सुकून और दौलत की ख्वाहिश रखता है, लेकिन बहुत कम ही लोग ऐसे होते हैं जो इन सारी चीजों को पाने के लिए कुछ करते हैं या करना चाहते हैं| कुछ लोग ऐसे होते हैं, जो अपनी जिंदगी को बेहतर ढंग से जीने लिए प्रयास भी करते हैं, लेकिन इसके बावजूद भी उन्हें सफलता नहीं मिलती| ऐसा भी नहीं है, कि जीवन में सुख शांति और अपनी जिंदगी बेहतर ढंग से जीने लायक धन की प्राप्ति करना बेहद मुश्किल है, लेकिन जीवन में सही फैसले ना लिए जाएं तो इन सभी चीजों को पाने में कामयाब होना बेहद मुश्किल हो जाता है|

असल कामयाबी क्या है?

कामयाबी की परिभाषा हर व्यक्ति के लिए अलग अलग हो सकती है| कोई ज्यादा पैसा होने को कामयाबी मानता है और कोई मानता है कि सुख और सुकून का जीवन कामयाबी है| खैर दोनों ही परिभाषाओं में एक चीज जो समान है, वह है कामयाबी का होना| आप किसी भी तरह की कामयाबी की कामना करते हो, उसी के अनुसार आपको जीवन में सही फैसले लेना आना चाहिए| सही फैसले लेने के लिए सही ज्ञान और जानकारी बेहद जरूरी है|अगर यह कहा जाए कि आपके पास उपलब्ध ज्ञान ही आपकी कामयाबी की चाबी है तो गलत ना होगा|

Key To Your Success

अभी तक हमें यह पता चल चुका है कि अगर कामयाब होना है तो हर रोज हमें कुछ ना कुछ नया सीख कर अपने ज्ञान को और अपने फैसले लेने की काबिलियत को बेहतर करना होगा|लेकिन सवाल उठ सकता है कि आखिर शुरुआत कहां से की जाए?

क्या स्कूल-कॉलेज से मिले ज्ञान को अपने जीवन में ढालकर एक बेहतर जीवन की कामना की जाए, या फिर आसपास की चीजों को ध्यान से देखकर, उनका अवलोकन कर सही गलत का पता लगाया जाए, या फिर आजकल बहु प्रचलित साधन इंटरनेट का सहारा लेकर वहां से जानकारी हासिल की जाए, या फिर किताबें पढ़ी जाए?

जानकारी प्राप्त करने के लिए कई प्रकार के छोटे-बड़े, तेज-धीमे या फिर सही-गलत साधन हो सकते हैं जो निम्न प्रकार हैं:

1. स्कूल कॉलेज से मिली जानकारी

अगर बात करें स्कूल-कॉलेज से मिली जानकारी के बारे में, तो आपको इस बात से जरूर इत्तेफाक रखना होगा, कि स्कूलों में जानकारी तो दी जाती है, लेकिन ज्ञान नहीं, और ज्ञान के बिना जानकारी का होना ठीक वैसा ही है जैसे आंखें होने के बावजूद देख ना पाना, या दिमाग होने के बावजूद सोच ना पाना|

जानकारी ( Information ) ऐसे तथ्यों का ढेर है जिसका प्रयोग कौशल्या, योग्यता को पाने में किया जाता है, जबकि शिक्षा, विचारों और भावनाओं से प्राप्त जागरूकता को ज्ञान ( Knowledge ) कहा जाता है| हमारे समाज में स्थित महंगे शिक्षा संस्थान हमें सिर्फ भीड़ का हिस्सा बनने के लिए तैयार करते हैं| यह हमारे समाज की व्यथा ही है कि हम अपने जीवन का ऐसा वक्त जिसमें हमारी सीखने और समझने की क्षमता सबसे ज्यादा होती है, ऐसे संस्थानों में बिता देते हैं जो हमें जीवन जीने की कला सिखाने में पूरी तरह असक्षम है|

मैं यह नहीं कहता कि शिक्षा प्राप्त करने के लिए ऐसे शिक्षा संस्थानों का सहारा लेना व्यर्थ है, लेकिन अपने समाज के भविष्य को बेहतर बनाने के लिए इन सारी कमियों को दूर करने की भी जिम्मेदारी हमारी ही है|

2. आसपास की चीजों पर ध्यान लगाकर

जानकारी पाने के लिए आसपास की चीजों पर ध्यान लगाना एक बेहतर उपाय है, लेकिन यह उपाय कभी-कभी बहुत ही धीमा साबित हो सकता है, तब जब आपके पास आधारभूत जानकारी ना हो|इस उपाय में भी कुछ कमियां हैं लेकिन इसे भी पूरी तरह से खारिज नहीं किया जा सकता|

3. इंटरनेट से जानकारी प्राप्त की जाए

इंटरनेट से मिली जानकारी तेज़ और इसे इस्तेमाल करने वालों के लिए बेहद कारगर भी है, लेकिन यदि आपने इंटरनेट को समझना शुरू ही किया है, तो आपके लिए यह घातक हो सकता है, क्योंकि यह माना जाता है कि गलत और अधूरा ज्ञान जानलेवा शत्रु से भी घातक होता है|

4. किताबें पढ़ना शुरू किया जाए

मेरी माने तो किताबें पढ़ना जानकारी का प्राप्त करने का एक सबसे बढ़िया और विश्वसनीय उपाय है| किताबें ना ही सिर्फ हमें जानकारी मुहैया कराती हैं, बल्कि यह हमें भावनात्मक रूप से जोड़ने का प्रयास भी करती हैं|

किताबें पढ़ने की सलाह देने के साथ-साथ सवाल यह भी उठ सकता है कि इतनी सारी किताबों में से शुरुआत किन किताबों से की जाए| क्या सामान्य ज्ञान की किताबों से शुरुआत की जाए, धार्मिक किताबें पढ़ी जाए, फिर मनोवैज्ञानिक किताबें पढ़ी जाए या फिर किसी और प्रकार की|

खैर किताबों को किसी श्रेणी में न बांटकर और यह ध्यान में रखते हुए, कि इस ब्लॉग को पढ़ने वाला हर व्यक्ति अपने जीवन में सुधार के साथ साथ ही अपने मस्तिष्क और जीवन पर बेहतर ढंग से काबू करने का प्रयास कर रहा है,इस शुरुआत के लिए जरूरी 10 किताबों की सूची नीचे मौजूद है|

जीवन में यह 10 किताबें जरूर पढ़ें|

जानकारी प्राप्त करने के वो सारे ज़रिये जिनका भी यहां जिक्र है, या फिर इनके अलावा कोई और भी, जिससे हम जानकारी प्राप्त कर सकते हैं, पूरी तरह से कोई भी गलत नहीं है या पूरी फिर कोई भी सही नहीं है| बस हमें सीखना होगा के किस जरिए को किस तरह से और कितना इस्तेमाल करना है|

कितनी जानकारी पर्याप्त है?

अभी तक हमें यह तो पता लग चुका है कि जानकारी प्राप्त करना क्यों जरूरी है और इस दिशा में हम कहां से शुरुआत कर सकते हैं| सवाल अब यह उजागर होता है कि आखिर कितना ज्ञान, जानकारी हमारे लिए पर्याप्त है?

इस बारे में मैं यही कहूंगा कि जिस प्रकार बदलते रहना वक़्त की प्रवृत्ति है, ठीक उसी प्रकार सीखते रहना जिंदगी का नियम!अगर आपको हर रोज जीतना है तो हर दिन आपको सीखना भी पड़ेगा, क्योंकि सीखना वन तो जीतना बंद|

जैसे-जैसे मानव सभ्यता का विकास हो रहा है, और हर एक चीज के बारे में नई नई जानकारी नई-नई खोजें उजागर हो रही है, उसे देखते हुए हर एक विषय में गहन अध्ययन करना बेहद मुश्किल है| कोई भी व्यक्ति थोड़ा प्रयास करके हर चीज के बारे में सामान्य जानकारी हासिल कर सकता है, भले से वह किताबों से हो या फिर इंटरनेट से हो, लेकिन अपने जीवन में वह सिर्फ एक या दो ही ऐसी विषय चुन सकता है जिनके बारे में वह गहन अध्ययन कर पाए|

जानकारी किस तरह की हो?

सौर मंडल में कितने ग्रह हैं, हमारी पृथ्वी पर कितने देश हैं, या फिर हमारे शरीर में कितनी हड्डियां हैं, यह सारी जानकारियां सामान्य जानकारियां हैं, इस प्रकार की सभी जानकारियों का पता हम आसानी से लगा सकते हैं, लेकिन इन सभी जानकारियों के बारे में गहन अध्ययन करने के लिए हमें उस विषय को ध्यान से पढ़ना होगा, और किसी एक विषय में उपलब्ध जानकारी इतनी ज्यादा है की उसे ही हासिल करने में जीवन कम पड़ सकता है| कोई बात नहीं| आपको यह भी स्वीकार करना होगा कि आप हर विषय में गहन अध्ययन नहीं कर सकते, लेकिन अपने आप से यह वादा जरूर कीजिए कि जिस विषय का आप अध्ययन करें उसमें ईमानदारी और मेहनत दोनों से ही काम लें|

जानकारी का प्रयोग कहां होगा?

तो अब आप इस बात से अच्छी वाकिफ हो गए होंगे की सामान्य जानकारी भी उतनी ही जरूरी है जितनी की गहन अध्ययन| आप किसी एक विषय को लेकर गहन अध्ययन कीजिए| वह विषय आपका कारोबार हो सकता है, यदि आप धर्म में रुचि रखते हैं, तो वह विषय आपका धर्म हो सकता है, या फिर राजनीति, या फिर कुछ और, वह विषय जिससे आपकी पहचान होगी और जिसके बारे में आप जाने जाओगे|
सामान्य जानकारी जिंदगी को बेहतर बनाने में अहम भूमिका निभाती है| सामान्य जानकारी, रिश्तो को निभाने की जानकारी हो सकती है, भावनाओं पर कैसे काबू पाना है, इसकी जानकारी हो सकती है, देश-दुनिया, जगत, ब्रह्मांड की जानकारी हो सकती है, आसपास के लोगों के बारे में जानकारी हो सकती है|

जानकारी हासिल करने के अलावा आपको अपने जीवन में कुछ आधारभूत बदलाव करने होंगे, जो आपके मस्तिष्क और शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करेंगे| इन बदलावों में या उपायों में 10 जरूरी और आसान उपाय जिनसे आप शुरू कर सकते हैं वह निम्न प्रकार हैं|

स्वस्थ रहने की 10 आसान उपाय|

तो अभी से कुछ नया सीखना शुरू कर दीजिए| जानकारी प्राप्त कीजिए, भले से वह किताबों से हो, इंटरनेट से हो, एक शुरुआत जरूरी है वह शुरुआत कीजिए|

आशा करते हैं यह ब्लॉग आप को एक नई शुरुआत करने में मदद करेगा|

इस बारे में कोई भी सवाल या फिर कोई भी जानकारी आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर पूछ सकते हैं|

धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *